You are here
Home > story > लालू परिवार की सुरक्षा में भारी कटैती, नाराज तेजस्‍वी ने CM नीतीश को कही ये बात

लालू परिवार की सुरक्षा में भारी कटैती, नाराज तेजस्‍वी ने CM नीतीश को कही ये बात

source – jagran.com

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और उनकी पत्‍नी पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के सरकारी आवास 10 सर्कुलर रोड की सुरक्षा में तैनात बीएमपी-2 के 32 कमांडो को मंगलवार की देर रात पुलिस मुख्यालय ने वापस बुला लिया। एडीजी (मुख्यालय) एसके सिंघल ने बताया कि लालू और राबड़ी के सरकारी आवास से सुरक्षा वापस लेने का यह निर्णय विशेष शाखा की समिति ने लिया है।

सुरक्षा में कटौती के बाद लालू परिवार ने कड़ा विरोध दर्ज किया है। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष व लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर बताया कि विरोधस्वरुप वे अपने पूरे परिवार को मिली सुरक्षा राज्य सरकार को वापस कर रहे हैं।

तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया कि विगत 10 महीने से सुरक्षा की श्रेणी निर्धारित करने और बढ़ाने के लिए अनेक बार नीतीश कुमार के अधीन गृह विभाग को लिखा, लेकिन ईर्ष्यावश बहाने दर बहाने नीतीश कुमार सुरक्षा बढ़ाने की बजाय इसमें कटौती कर रहे हैं। सीबीआइ की पूछताछ के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा सुरक्षा गार्ड हटाया जाना बड़ी साजिश है।

उन्होंने आगे लिखा है, ‘मेरी माता श्रीमती राबड़ी देवी जी ने पूर्व मुख्‍यमंत्री की हैसियत से प्राप्त सुरक्षा, मेरे भाई को विधायक के नाते और मुझे नेता प्रतिपक्ष के नाते प्राप्त सुरक्षा को बिहार के सीएम नीतीश कुमार को वापस सौंप रहे हैं, ताकि वे तुच्छ ईर्ष्यालु कार्य छोड़ सकारात्मक कार्यों पर ध्यान केन्द्रित कर सकें।

तेजस्वी ने यह भी कहा कि हम डरपोक नहीं हैं कि जो अपनी सुरक्षा में 800 जवान तैनात रखते हैं। हमारे द्वारा लौटाए गए सुरक्षाकर्मियों को नीतीश कुमार अपनी सुरक्षा में तैनात कर लें। हम तो गरीब जनता के बीच रहने वाले लोग हैं।

इस बीच, एडीजी एसके सिंघल ने बताया कि विशेष शाखा की सुरक्षा समिति ही राज्य में किसी भी गणमान्य व अति विशिष्ट व्‍यक्ति की जान पर खतरा और उनकी सुरक्षा का आकलन करती है। समय-समय पर इस समिति की बैठक में गणमान्य व अतिविशिष्ट लोगों पर खतरे और उनकी सुरक्षा की समीक्षा की जाती है। लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के सरकारी आवास पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती व उनकी संख्या का निर्धारण भी इसी समिति के द्वारा किया जाता है। समिति ने लालू प्रसाद और राबड़ी देवी की सुरक्षा की समीक्षा के बाद यह फैसला लिया है।

source – jagran.com

Leave a Reply

Top