You are here
Home > Politics > सीधी बात: उमा भारती बोलीं- राम मंदिर के लिए आंदोलन नहीं, माहौल बनाने की जरूरत

सीधी बात: उमा भारती बोलीं- राम मंदिर के लिए आंदोलन नहीं, माहौल बनाने की जरूरत

source – aajtak.intoday.in

आने वाला वक्त गंगा और राम को देने का ऐलान कर चुकीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव नतीजों से पहले आए एग्जिट पोल पर कहा कि वह इसे न खारिज करेंगी और न स्वीकार करेंगी. वहीं, उन्होंने ये भी कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए अब आंदोलन की जरूरत नहीं है, बल्कि माहौल की जरूरत है.

आजतक के खास कार्यक्रम ‘सीधी बात’ में उमा भारती से जब पूछा गया कि  राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत तेलंगाना में बीजेपी की सत्ता खिसकती दिखाने पर एग्जिट पोल पर उनका क्या कहना है कि तो हम इन्हें सिरे से नकार नहीं सकते हैं. हालांकि, उन्होंने ये भी कहा दिया कि वह न ही एग्जिट पोल को स्वीकरती हैं और न ही खारिज करती हैं, लेकिन तीन राज्यों में फिर से बीेजपी की सरकार बनाने की हमारी इच्छा है और यह जरूर पूरी होगी.

इससे आगे उन्होंने कहा, ‘मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लोग अपने घर का सदस्य मानते हैं. उनकी सत्ता में जरूर वापसी होगी. उन्होंने कहा कि जैसा नेता मैं चाहती थी, वैसे नेता मोदीजी हैं. मोदीजी के लिए मैं रोज दुआ करती हूं.

उमा भारती ने कहा कि कांग्रेस की आदत है लोगों की बेइज़्ज़ती करना. नफरत और जलन उनके अंदर इतनी भर गई है. इन लोगों को बहुत दिनों बाबा रामदेव के यहां इलाज कराने के लिए रहना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी स्वयं अपना मजाक उड़वाते हैं. वह अपनी सोच और वाणी पर नियंत्रण रखें तो उनकी हंसी कोई नहीं उड़ाएगा. हम भी नहीं.

मोदीजी मंदिर बनाओ कांग्रेस आपके साथ है

कांग्रेस पर दंगा कराने जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए उमा ने कहा कि यह गलत है कि कांग्रेस ने राम मंदिर का ताला खुलवाया था, नेहरू जी ने ताला लगवाया था. कोर्ट के आदेश पर ताला खुला था. अगर राहुल गांधी अपना जनेऊ लेकर ऊं नम: शिवाय बोलते हुए मोदीजी के पास पहुंच जाए और कह दें कि चलो मोदीजी मंदिर बनाओ कांग्रेस आपके साथ है तो सोमनाथ मंदिर की शांति से राम मंदिर बन जाएगा.

मोदी लहर के सवाल पर उमा ने कहा कि बीजेपी और भारत की राजनीति में मोदी का कोई विकल्प नहीं है. लहर अभी थमी नहीं है. तमाम सर्वे में यह दिखाया गया है कि मोदीजी की लोकप्रियता में कोई गिरावट नहीं आई है.

तीन सालों में जो किया, वह कई जन्म में न कर पाती

गंगा सफाई पर अपने द्वारा किए गए कामों का जिक्र करते हुए उमा भारती ने कहा कि गंगा की सफाई के लिए लोगों की भागीदारी जरूरी है. लोगों को खुद जागरुक होने की जरूरत है. गंगा किनारे के 4 हजार गांव ओडीएफ हो गए हैं. कानपुर का सबसे प्रसिद्ध नाला बंद कर दिया गया. इन तीन सालों में मैंने जो कर लिया, 10 हजार जन्म ले लेती तो न कर पाती. लोकसभा चुनाव के बाद मैं जन जागरण अभियान पर निकलूंगी.

उमा भारती ने कहा कि अब न तो गंगा के लिए और न ही राम मंदिर के लिए आंदोलन की जरूरत है. अब सभी लोगों को माहौल बनाने की जरूरत है. राम मंदिर के नाम पर सभी दल एकजुट हो जाएं, ताकि बीजेपी को राम के नाम पर वोट ही न मिलें. लेकिन मंदिर निर्माण में घात न लगाओ.

source – aajtak.intoday.in

Leave a Reply

Top