You are here
Home > News > कांग्रेस ने 2019 चुनाव में गठबंधन के संकेत दिए, कहा- अपने जैसी सोच वालों का सहयोग करेंगे

कांग्रेस ने 2019 चुनाव में गठबंधन के संकेत दिए, कहा- अपने जैसी सोच वालों का सहयोग करेंगे

sourcebhaskar.com महाधिवेशन के पहले दिन ही कांग्रेस ने संकेत दिए हैं कि 2019 में पार्टी गठबंधन कर सकती है। पार्टी ने कहा कि वो 2019 में भाजपा और संघ को हराने के लिए अपने जैसी सोच वालों के सहयोग को लेकर व्यावहारिक नजरिया अपनाएगी। बता दें कि आज कांग्रेस के 84वें अधिवेशन की शुरुआत हुई है, यहां कांग्रेस अगले पांच साल के लिए अपनी रणनीति तय करेगी।

गठबंधन पर और क्या कहा कांग्रेस ने?
– पार्टी रिजोल्यूशन में कहा गया, “अपने जैसी सोच वाले दलों के साथ सहयोग को लेकर पार्टी व्यावहारिक नजरिया अपनाएगी। इसके साथ ही साझा प्रोग्राम चलाए जाएंगे, ताकि भाजपा-संघ को 2019 में हराया जा सके।’

अधिवेशन में और कौन से मुद्दे उठे?
– पार्टी ने ईवीएम का मुद्दा भी उठाया। रिजोल्यूशन में कहा गया, “इलेक्शन कमीशन के पास ये संवैधानिक अधिकार है कि वो चुनाव निष्पक्ष और सही तरीके से कराए। साथ ही वोटिंग और काउंटिंग की प्रक्रिया भी पारदर्शी रखने का अधिकार है, ताकि लोगों का चुनावी प्रक्रिया में विश्वास बना रहे। लोगों और पार्टियों में ये शक है कि ईवीएम के गलत इस्तेमाल के जरिए जनता के फैसले को प्रभावित किया जा रहा है।’
– कांग्रेस ने चुनावी प्रक्रिया में विश्वास को बनाए रखने के लिए पुरानी बैलट व्यवस्था को वापस लाने की भी बात की।

राहुल गांधी ने क्या कहा?
– कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उद्घाटन सत्र में कहा, “एक व्यक्ति को दूसरे से लड़ाकर देश को बांटा जा रहा है, गुस्सा फैलाया जा रहा है। पर कांग्रेस का हाथ लोगों को जोड़ेगा। आज देश के युवा और किसान थक चुके हैं, मोदी सरकार में उन्हें रास्ता नहीं मिल रहा।’
– उन्होंने कहा, “कांग्रेस का ये अधिवेशन बदलाव के लिए हो रहा है। मैं सोचता हूं कि युवा पार्टी को आगे ले जा सकते हैं। कांग्रेस पुराने को नहीं भूलती है, इसीलिए मेरा काम सीनियर नेताओं और युवाओं को जोड़ना है। इसके बिना पार्टी नहीं बढ़ेगी।’

sourcebhaskar.com

Leave a Reply

Top