You are here
Home > Sports > Cricket > शातिर तरीके से मैदान में टेप को रेगमार में बदल रहे थे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

शातिर तरीके से मैदान में टेप को रेगमार में बदल रहे थे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

source – aajtak.intoday.in

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की करतूत ने एक बार फिर क्रिकेट को शर्मसार किया है. वे हर बार कुछ न कुछ ऐसा कर देते हैं जिससे क्रिकेट की दुनिया में उनकी ही फजीहत होती है. कभी सचिन पर बॉल टेंपरिंग की तोहमत लगाकर तो कभी हरभजन सिंह से बदजुबानी कर वे अक्सर नियमों की धज्जियां उड़ाते रहे हैं. अब उन्होंने बॉल से छेड़छाड़ के लिए जो तरीका अपनाया, वे बेहद हैरान करने वाला है.

ऐसे टेप के साथ कर रहे थे ‘खेल’

दरअसल, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरन बैनक्रॉफ्ट ने जो टेप हाथ में चिपकाया था, उसे बड़े ही शातिराना अंदाज से रेगमार में बदल दिया था. बैनक्रॉफ्ट ने हाथ में टेप का चिपकने वाला हिस्सा उल्टी तरफ से लगाया था. इसके बाद बैनक्रॉफ्ट टेप को मैदान और पिच पर रगड़ते थे, ताकि मिट्टी के कण टेप पर चिपक जाएं. इस तरीके से सामान्य सा दिखने वाला टेप रेगमार में बदल जाता था. इसके बाद इस रेगमार जैसे टेप को गेंद के एक हिस्से में रगड़ा जा रहा था, ताकि गेंद एक तरफ से खराब हो जाए और रिवर्स स्विंग हासिल की जा सके.

कैमरे ने पकड़ी कैमरन बैनक्रॉफ्ट की चोरी

केपटाउन टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका को हराने के लिए बॉल टेम्परिंग का गेमप्लान बनाया था, लेकिन कैमरे ने उनकी चोरी पकड़ ली. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट के तीसरे दिन कैमरे ने ऑस्ट्रेलिया के ओपनर कैमरन बैनक्रॉफ्ट को एक टेप को पैंट में छिपाते पकड़ा था. इस टेप के जरिये बैनक्राफ्ट गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश कर रहे थे. बैनक्रॉफ्ट टेप से गेंद खराब करने के बाद उसे पैंट में छिपा लिया था. उन्हें लगा कि उनकी ये हरकत किसी ने नहीं देखी. लेकिन कैमरे ने उनकी इस हरकत को कैद कर लिया.

स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट ने कबूली गलती

इस मामले का खुलासा होते ही मैदानी अंपायरों ने तुरंत बैनक्रॉफ्ट और कप्तान स्मिथ को तलब कर लिया. गेंद की जांच की गई. गेंद में छेड़छाड़ के सबूत तो नहीं मिले, लेकिन कप्तान स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट ने कबूल किया कि उनकी ऐसी मंशा जरूर थी. इससे वे शर्मिंदा हैं और दोबारा ऐसा नहीं करेंगे.

टीम लीडरशिप ने किया था बॉल टेंपरिंग का फैसला

हद तो तब हो गई जब स्मिथ ने इस तरीके से बॉल टेंपरिंग को टीम लीडरशिप का फैसला बताया और कोच को आरोपों से बरी कर दिया. इतनी बड़ी घटना के बावजूद उन्होंने कप्तानी छोड़ने से इनकार किया, लेकिन इस घटना से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट पर बेईमानी का जो दाग लगा है, उसे देखते हुए उनकी कप्तानी बच पाएगी, ये बड़ा सवाल है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने पूरे मामले पर जांच बिठा दी है.

सरकार के आदेश पर स्मिथ ने छोड़ी कप्तानी

बॉल टैंपरिंग विवाद में घिरी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ को सरकार के आदेश के बाद कप्तानी छोड़नी पड़ी.  साथ ही डेविड वॉर्नर ने भी उप-कप्तान का पद छोड़ दिया है. इससे पहले स्मिथ ने कप्तानी छोड़ने से इनकार किया था. लेकिन ऑस्ट्रेलियाई सरकार के फरमान के बाद स्मिथ को अपना पद छोड़ना पड़ा है. दोनों खिलाड़ियों ने जिस मासूमियत से अपना गुनाह कबूला उससे लग रहा है कि उन्हें इस बात का इल्म ही नहीं था कि उनकी इस हरकत से न सिर्फ ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बदनाम हुआ, बल्कि क्रिकेट भी कलंकित हुआ है.

source – aajtak.intoday.in

Leave a Reply

Top