You are here
Home > News > क्या उस शख्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है: केजरीवाल के माफीनामे के बाद विश्वास का ट्वीट

क्या उस शख्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है: केजरीवाल के माफीनामे के बाद विश्वास का ट्वीट

source – bhaskar.com

पंजाब की अकाली सरकार के पूर्व मंत्री और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर के छोटे भाई बिक्रम सिंह मजीठिया की मानहानि मामले में अरविंद केजरीवाल ने माफी मांगी है। हालांकि, आम आदमी पार्टी की पंजाब यूनिट के साथ ही कुमार विश्वास जैसे उनके साथियों ने माफीनामे पर नाराजगी जाहिर की है। कुमार ने ट्वीट में लिखा- ”क्या हम उस शख्स पर थूकें, जो थूक कर चाटने में माहिर है।” गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अमृतसर कोर्ट में माफीनामा सौंपा। इसके बाद मजीठिया ने केस वापस ले लिया। बता दें कि पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान केजरीवाल ने मजीठिया को ड्रग माफिया बताते हुए कहा था कि सरकार बनी तो मजीठिया जैसे लोगों को कॉलर पकड़कर जेल में डालेंगे।

माफीनामे से आप की पंजाब यूनिट में बगावत

– आप नेता और पंजाब विधानसभा में नेता विपक्ष सुखपाल सिंह खैरा ने कहा, ”केजरीवाल के माफी मांगने से हम पूरी तरह स्तब्ध हैं। हमें इस बात को स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं है कि हमसे इस बारे में कोई चर्चा नहीं की गई।”
– वहीं, आप विधायक कंवर संधु ने कहा, ”अगर आप सत्य के लिए खड़े होते हैं तो मानहानि का सामना करना पड़ता है। मैं केवल माफिया द्वारा दाखिल केस का सामना कर रहा हूं। केजरीवाल की माफी ने युवाओं को शर्मिंदा किया है।”

कुमार विश्वास ने ट्वीट कर चुटकी ली

– आप से खफा चल रहे कुमार विश्वास ने मजीठिया से माफी मांगे जाने पर ट्वीट कर केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा, ”एकता बांटने में माहिर है, खुद की जड़ काटने में माहिर है, हम क्या उस शख्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है!”

एसटीएफ की रिपोर्ट में फंस सकते हैं मजीठिया

– केजरीवाल ने भले ही बिक्रम मजीठिया से माफी मांग ली हो, लेकिन ड्रग रैकेट मामले की जांच कर रही एसटीएफ ने अपनी रिपोर्ट पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट को सौंप दी है। एसटीएफ की इस रिपोर्ट से मजीठिया और ड्रग्स रैकेट को लेकर कई खुलासे हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार एसटीएफ ने कहा है कि ड्रग्स रैकेट में मजीठिया के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं।

पहले केजरी ने ड्रग माफिया कहा, अब मजीठिया से बोले- खेद है

– कोर्ट को दिए माफीनामे में केजरीवाल ने लिखा, ”बीते दिनों मैंने आप पर ड्रग कारोबार में शामिल होने के आरोप लगाए थे। इन बयानों को राजनीतिक रूप दिया गया। अब मुझे यह समझ आया है कि मैंने जो आरोप आपके खिलाफ लगाए थे वह बेबुनियाद है। इसलिए अब इस विषय पर कोई भी राजनीति नहीं होनी चाहिए।” – ”मेरे द्वारा राजनीतिक रैलियां, टीवी शो, राजनीतिक बैठकें, प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में जो आरोप लगाए गए थे, इसके चलते आपने आम आदमी पार्टी पर जो मानहानि का केस अमृतसर कोर्ट में दाखिल किया है। आपके खिलाफ मैंने जो भी बयान दिए थे, उसके लिए मैं माफी मांगता हूं। इन आरोपों से आपको, परिवार को और समर्थकों के मान-सम्मान को जो ठेस पहुंची है, उसके लिए मुझे खेद है।”

केजरी ने कहा था- अकाली नेताओं को जेल में डालेंगे

– 2016 के पंजाब विधानसभा चुनाव कैंपेन में केजरी ने अकाली सरकार के मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया पर हमला बोला था। उन्होंने मजीठिया पर ड्रग ट्रेड में शामिल होने का आरोप लगाया। केजरीवाल ने रैलियों में कहा था कि अगर आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो मजीठिया जैसे नेताओं को कॉलर पकड़कर जेल भेजा जाएगा। इसके अलावा प्रकाश सिंह बादल सरकार के खिलाफ भी मोर्चा खोला। उन्हें ड्रग माफिया और अपराधियों का मददगार बताया।
– आप के आरोपों को लेकर अकाली नेता ब्रिकम सिंह ने केजरीवाल, संजय सिंह और आशीष खेतान पर मानहानि केस किया था।

जेटली पर भी लगाए थे भ्रष्टाचार के आरोप

– मुख्यमंत्री केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के कई नेताओं ने वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ भी भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप लगाए थे। आप का आरोप था कि जेटली ने 13 साल तक दिल्ली की क्रिकेट बॉडी (डीडीसीए) प्रेसिडेंट रहते घोटाला किया था।
– कई दिन तक आप नेताओं ने जेटली के खिलाफ सोशल मीडिया में कैंपेन चलाया। इसके बाद वित्त मंत्री ने केजरीवाल समेत आप के 5 नेताओं पर सिविल और आपराधिक मानहानि के अलग-अलग दो केस फाइल किए और 10-10 करोड़ के मुआवजे की मांग की।
– हाईकोर्ट में केजरीवाल की पैरवी कर रहे सीनियर एडवोकेट राम जेठमलानी केस छोड़ चुके हैं। उन्होंने भी केजरी को सलाह दी थी कि वो अरुण जेटली से माफी मांग लें।

पहले भी बीजेपी नेता से माफी मांग चुके हैं केजरी

– यह पहला मौका नहीं है जब केजरीवाल ने आरोपों को लेकर किसी नेता से मांगी हो। पिछले साल अगस्त में भी उन्होंने हरियाणा के बीजेपी नेता अवतार सिंह भड़ाना को माफीनामा भेजा था। इससे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मांफी मांग चुके हैं।
– 2014 की एक रैली में केजरीवाल ने भड़ाना के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे, जिसके बाद उन्होंने आप नेताओं के खिलाफ मानहानि केस फाइल किया था।

source – bhaskar.com

Leave a Reply

Top